Saturday, June 11, 2016

UPSC-Economics- Planning Commision-NITI Aayog-NDC-Lecture-5

अर्थशास्त्र( Economics): योजना आयोग(Planning Commision) , नीति आयोग (NITI Aayog) व् राष्ट्रीय विकास परिषद( National Development Council)

अर्थशास्त्र की पाँचवी कक्षा में आप सभी का स्वागत है। आज की कक्षा में हम planning टॉपिक को पढ़ेंगे। लेकिन सीधे तौर पर पंचवर्षीय योजना से शुरुआत नही करेंगे। दरअसल उससे पहले योजना आयोग, नीति आयोग व् राष्ट्रीय विकास परिषद( National Development Council) के बारे में जानेंगे। यहाँ पर आपको लग सकता है कि हम अर्थशास्त्र पढ़ रहे हैं या राजव्यवस्था। लेकिन आगे बढ़ने से पहले इन सबके बारे में जानना जरूरी है। 
देखिये पंचवर्षीय योजना को पढ़ने से पहले उन्हें बनानी वाली संस्था के बारे में थोडा बहुत जान लेना हमारे लिए आवश्यक है।

योजना आयोग ( Planning Commision)

  • सबसे पहले योजना आयोग के बारे में चर्चा करते हैं। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हम लोगो को वर्ष 1947 में अंग्रेजो से आज़ादी मिली थी । अब शासन हमारे हाथो में आ गया था। तथा हमारे देश के निति निर्माताओं के सामने सबसे बड़ी समस्या यह थी कि अब आगे कैसे बढ़ा जाये और यह बात याद रखना कि इस समय सारी दुनिया हम पर हँस रही थी, कारण ये था कि हमने गुलामी से तुरंत लोकतंत्र अपना लिया था। 
  • कुछ विचारको का मानना था कि भारत में अत्यधिक विविधता है इस कारण यहाँ पर लोकतंत्र चल नही पायेगा। लेकिन ख़ुशी की बात ये है हमने न केवल दुनिया का मुंह बन्द किया बल्कि लोकतंत्र को केवल चलाया ही नही दौड़ाया भी। 
  • अभी नीति निर्माताओं के सम्मुख समस्या ये थी की आगे की राह को कैसे तय किया जाये। इसी समय नेहरू जी ने ussr( सोवियत संघ) की प्रणाली को सभो को सुझाया तथा अपनाने की सलाह दी। 
  • सोवियत संघ में देश में तरक्की पंचवर्षीय योजना बनाकर की जाती थी। ये याद रखियेगा कि हमने planning की अवधारणा सोवियत संघ से ली है तथा इसी क्रम में योजना आयोग की स्थापना की गयी।

आइये योजना आयोग से जुड़े कुछ बिंदु जान लेते हैं------

  • इसकी स्थापना 15 मार्च 1950 को की गयी थी।
  • यह एक संविधानेत्तर संस्था( extra-constitutional body) थी।( अर्थात जिसके बारे में संविधान में कोई जिक्र नही किया गया)
  • प्रधानमंत्री इसका पदेन अध्यक्ष( ex-officio) होता है।
  • इसके प्रथम अध्यक्ष नेहरू जी थे तथा प्रथम उपाध्यक्ष गुलजारी लाल नन्दा थे।
योजना आयोग की स्थापना इस उद्देश्य से की गयी थी कि यह, देश में उपलब्ध संशाधनों का सही प्रकार से कैसे दोहन किया जाये, इसके लिये योजना बनाये। इसे सलाहकारी संस्था भी कहा गया। अर्थात सरकार को समय समय पर देश की तरक्की के लिए आवश्यक सलाह दे।
अभी तक सब ठीक चल रहा था। लेकिन अचानक हर हर मोदी के नारे लगने लगे, जी हाँ चुनाव आ गए । 2014 के चुनावो में बीजेपी को( nda गठबंधन) को बहुमत मिला और कांग्रेस केवल 44 सीटों पर सिमट गयी। अब मोदी जी प्रधानमंत्री बने तथा उन्होंने लाल किले की प्राचीर से घोषणा कर दी कि योजना आयोग को समाप्त किया जायेगा तथा योजना आयोग के स्थान पर नीति आयोग को लाया गया।

नीति आयोग (NITI Aayog)

आइये नीति आयोग के बारे में थोडा जान लेते हैं.........
  • नीति (niti) अंग्रेज़ी के शब्द policy का रूपांतरण नही है, बल्कि NITI का पूरा नाम National Institution For Transforming India है।
  • इसकी स्थापना 1 jan 2015 को की गयी।
  • यह एक संविधानेत्तर संस्था है।
  • प्रधानमंत्री पदेन अध्यक्ष होता है।
  • प्रथम अध्यक्ष नरेंद्र मोदी बने तथा प्रथम उपाध्यक्ष अरविन्द पंगढ़िया को बनाया गया।
  • प्रथम सीईओ( मुख्य कार्यकारी अधिकारी) सिंधु श्री खुल्लर बने तथा वर्तमान में इसके सीईओ अमिताभ कान्त हैं।
नीति आयोग में एक शासकीय परिषद( governing council) का प्रावधान किया गया जिसके सदस्य सभी राज्यो के मुख्यमंत्री तथा संघ शासित प्रदेशो के प्रशासक होंगे।

योजना आयोग तथा नीति आयोग के बीच मुख्य अंतर

आइये जानते हैं कि योजना आयोग तथा नीति आयोग के बीच मुख्य अंतर क्या है? आखिर क्यों निति आयोग लाने की आवश्यकता हुई?------------
  • दरअसल योजना आयोग के द्वारा जब पंचवर्षीय योजना को बनाया जाता रहा तो समय समय पर राज्यो के द्वारा आरोप लगते रहे कि उनके हितो की प्लानिंग में अनदेखी की गयी है। इसी कारन से राज्य योजना पर मतभेद करते रहे तथा विवाद बना रहा। 
  • निति आयोग में बदलाव किया गया तथा स्वम् राज्यो के मुख्यमंत्री व् प्रशासको को इसका सदस्य बनाया गया। अर्थात अब जो भी पंचवर्षीय योजना बनेगी उसमे राज्यो की भी भूमिका रहेगी। तथा यह भूमिका तभी रहेगी जब योजना को बनाया जायेगा अर्थात शरुआती दौर में ही। इस प्रकार योजना में सभी राज्यो का सहयोग रहेगा तथा बाद में विवाद की स्थिति से बचा जा सकता है।

NDC( National Development Council)

  • आइये आगे बढ़ते हैं तथा थोडा सा NDC( National Development Council) के बारे में भी जान लेते हैं ---------
  • NDC की स्थापना 6 Aug 1952 को की गयी।
  • यह भी एक संविधानेत्तर संस्था है।
  • PM इसके अध्य्क्ष होते हैं।
  • यह योजना को अंतिम स्वरुप प्रदान करती है( यह प्रश्न कई बार आया है)।
  • NDC के बारे में इतना ही महत्वपूर्ण है।

कुछ सम्भावित प्रश्न--------

  • NITI का पूरा नाम
  • योजना अंतिम स्वरुप कोन प्रदान करता है
  • निति आयोग है-- संवैधानिक अथवा संविधानेत्तर संस्था
  • तीनों का स्थापना दिवस

मुख्य परीक्षा से सम्बन्धित प्रश्न------- 

  • योजना आयोग तथा नीति आयोग का तुलनात्मक अध्ययन कीजिये। क्या वास्तव में योजना आयोग की प्रासंगिकता समाप्त हो चुकी थी, समालोचनात्मक टिप्पणी करिये।
Share:

0 comments:

Post a Comment